top of page

तिरुपति बालाजी मंदिर | Tirupati Balaji Temple

जानें तिरुपति बालाजी मंदिर के इतिहास, स्थान, महत्व और यात्रा करने के लिए कैसे आप इस तीर्थ स्थल कैसे पहुंच सकते हैं


Learn about Tirupati Balaji temple's history, location, importance, and how to reach it easily.



1. इतिहास / History:

भारत के दक्षिणी हिस्से में स्थित तिरुपति बालाजी मंदिर भारत के सबसे प्रसिद्ध हिंदू मंदिरों में से एक है।


इस मंदिर को वेंकटेश्वर या तिरुपति बालाजी के नाम से भी जाना जाता है।


यह मंदिर भगवान विष्णु के एक रूप श्री वेंकटेश्वर तथा उनकी पत्नी श्रीदेवी और भूमा देवी को समर्पित है। इस मंदिर के इतिहास के बारे में कुछ जानकारियां निम्नलिखित हैं।


तिरुपति बालाजी मंदिर भारत में सबसे प्राचीन और पूज्य मंदिरों में से एक है। इसका इतिहास 8वीं सदी तक जाता है, हालांकि कुछ स्रोत इससे भी पुराना होने का दावा करते हैं।


पौराणिक कथाओं के अनुसार, 11वीं सदी में वैष्णव संत रमानुजाचार्य द्वारा मंदिर का खोज किया गया था। हालांकि, 14वीं सदी में विजयनगर साम्राज्य के शासनकाल में मंदिर को महत्व मिला था। इस समय मंदिर का विस्तार किया गया था और नवीनीकृत किया गया था।


वर्षों के अंतर्गत, पल्लव वंश, चोल वंश और विजयनगर साम्राज्य के शासकों जैसी कई राजवंशों ने मंदिर को संरक्षित किया है। इसके अलावा, कुछ संत और ऋषि ने भी इसके समृद्ध इतिहास और विरासत में योगदान दिया है।


Tirupati Balaji, also known as Sri Venkateswara Temple, is one of the most revered and famous pilgrimage destinations for Hindus around the world.


2. स्थान / Location:


तिरुपति बालाजी मंदिर भारत के आंध्र प्रदेश राज्य के चित्तूर जिले में स्थित है। यह मंदिर तिरुपति पहाड़ के ऊपर स्थित है, जो अत्यंत शांतिपूर्ण वातावरण में है। मंदिर के आसपास शानदार पर्वत और झीलें हैं, जो इसकी सुंदरता को बढ़ाती हैं।


तिरुपति बालाजी मंदिर तिरुमला की सात पहाड़ियों पर स्थित है, जो पूर्वी घाटों का एक हिस्सा हैं। मंदिर समुद्र तल से 853 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है और इसे हरे-भरे जंगल और दर्शनीय पहाड़ियों से घिरा हुआ है।


Located in the Chittoor district of Andhra Pradesh, India, this temple attracts millions of devotees every year.


3. महत्व / Importance & Significance:


तिरुपति बालाजी मंदिर का महत्त्व इसके इतिहास, संगम के महत्व, और मंदिर में लगे विशाल दान के कारण बढ़ गया है। मान्यता है कि यह मंदिर कालीयुग में श्री वेंकटेश्वर (वेंकटेश) की पूजा के लिए स्थापित किया गया था।


तिरुपति बालाजी मंदिर में होने वाली पूजा-अर्चना से समस्त दुखों से मुक्ति मिलती है। मान्यता है कि यहां भगवान वेंकटेश्वर की कृपा से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और भक्तों के जीवन में सुख, समृद्धि और शांति का अनुभव होता है।


इस मंदिर के महत्व की बात की जाए तो यहां की ज्योतिषीय शक्तियां और वास्तु दोषों का निवारण शक्ति काफी प्रभावशाली होती है। यहां के जलस्रोत नाग तथा सुप्त वासुकि के दर्शन से मनुष्य के जीवन में दुखों का कम होने लगता है।


इसलिए, तिरुपति बालाजी मंदिर को हिंदू धर्म का सबसे महत्वपूर्ण स्थानों में से एक माना जाता है जो हर भक्त की आत्मीय जगह है।


The Tirupati Balaji temple is not just a place of worship, but also a symbol of Hindu culture and tradition. It is considered as one of the richest and most visited temples in the world. Devotees believe that visiting this temple and having darshan of Lord Venkateswara can fulfill their wishes and bring them good fortune.


4. कैसे पहुंच सकते हैं / How to reach:


मंदिर को पहुंचने के लिए निम्नलिखित तरीकों का उपयोग किया जा सकता है:

  1. हवाई जहाज़: निकटतम हवाई अड्डा रेनिगंटा हवाई अड्डा है, जो कि मंदिर से लगभग 15 किलोमीटर दूर है। आप दिल्ली, मुंबई, बंगलौर, चेन्नई और विजयवाड़ा से रेनिगंटा हवाई अड्डा तक सीधे फ्लाइट ले सकते हैं।

  2. ट्रेन: तिरुपति में अपने रेलवे स्टेशन है, जिसे तिरुपति स्टेशन के नाम से जाना जाता है। इस स्टेशन से आप हर क्षेत्र से ट्रेन से आसानी से आ सकते हैं।

  3. बस: तिरुपति के लिए आप अपनी पसंद के अनुसार ट्रेवल बस या अन्य स्थानों से बस से भी जा सकते हैं। आंध्र प्रदेश सड़क परिवहन निगम रेगुलर बस सेवाएं चलाता है जो तिरुपति के लिए उपलब्ध हैं।


Tirupati is well-connected to major cities in India through air, rail, and road. The nearest airport is in Tirupati itself, while the nearest railway station is Tirupati Railway Station. One can also reach Tirupati by bus from nearby cities.

15 दृश्य0 टिप्पणी
bottom of page